what is CPU-Frequency-Clock-Rate-Clock-Speed-Clock-Cycle-Hertz-Hindi


Processor/CPU में Clock Rate, Clock Speed, Frequency, Hertz क्या होता है?

इन सबके बारे में आपने कभी न कभी कहीं न कहीं जरूर सुना होगा। ये सब क्या हैं कैसे काम करते हैं इत्यादि के बारे में हम आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे। 
जैसा कि आप जानते हैं कि आज के समय में सभी चीजें Digital होती जा रही हैं क्योंकि सभी चीजों में Digital Electronic Circuit का यूज किया जा रहा है और सभी प्रकार के Digital Electronic Circuit में Transistors का यूज होता है। 
इसके बारे में हम पिछले पोस्ट में डिटेल में जान चुके हैं यदि आपने Transistor क्या है? कैसे वर्क करता है? के बारे में किसी कारणवश नहीं जान पाये हैं तो नीचे दिये गये लिंक पर क्लीक करें। और उसे पहले देखें ताकि ये वाली पोस्ट आपको समझने में आसानी हो।

Transistor and Nano-meter

जैसा कि हम जान चुके हैं कि Transistors Digital Electronic Circuit में या तो As a Switch यूज किया जाता है या तो As a Amplifier। लेकिन यहां पर हम Processor की बात कर रहे हैं तो हम इसी के बारे में जानेंगे Processor में Transistor As a Switch की तरह काम करता है।

बाइनरी भाषा (Binary Language) क्या होता है?

CPU-Frequency-Clock-Rate-Clock-Speed-Clock-Cycle-Hertz-Hindi


यदि आपसे पूछा जाय कि कम्प्यूटर की भाषा क्या है? तो आप बिना समय बिताये फट से कहेंगे, अंग्रेजी (English) आप ही क्या ज्यादातर लोगों का यही जवाब होगा, जो कि सही नहीं है। 
आज का Digital Computer पूर्ण रूप से Two Values 0 और 1 पर वर्क करता है और Computer ही क्या Mobile, Tablet, Laptop और भी बहुत उपकरण है जो Two Values 0,1 पर वर्क करते हैं। तो जहां जहां Transistors का यूज होता है वहां केवल Two ही Value होती है इसके अलावा Third कोई Value नहीं है और इसी 0,1 को बाइनरी भाषा या Binary Language कहा जाता है।
जब वैल्यू 0 होता है तो उसे Off माना जाता है और जब वैल्यू 1 हो तो उसे On माना जाता है। इसे High-Low भी कहा जाता है On होने पर High और Off होने पर Low। आप इसे जो कहें।

Clock Cycle क्या होता है?

CPU-Frequency-Clock-Rate-Clock-Speed-Clock-Cycle-Hertz-Hindi


अभी आपने ऊपर जाना कि Processor में Transistors का यूज किया जाता है जो कि Off-On होता है। आज के समय में किसी भी Processor में हजारो-लाखों नहीं बल्कि करोड़ो-अरबो Transistors लगाये जाते हैं जो कि हर सेकेण्ड में एक बार On-Off होते हैं। इस प्रकार वो एक सेकेण्ड में On-Off होकर एक साइकिल कम्प्लीट करते हैं और इसी कम्प्लीट साइकिल को Clock Cycle कहा जाता है। 
अब मान लेते हैं कि एक Processor जिसमें 1 अरब Transistors लगे हैं तो ऐसे में वो एक सेकेण्ड में एक अरब बार On-Off होंगे। यानि वो प्रति सेकेण्ड 1 करोड़ साइकिल कम्प्लीट करेगा। तो जितना Transistors Processor में होगा वो प्रति सेकेण्ड उतना साइकिल कम्प्लीट करेगा।

Clock Speed or Clock Rate क्या होता है?


CPU-Frequency-Clock-Rate-Clock-Speed-Clock-Cycle-Hertz-Hindi

Clock Speed और Clock Rate दोनों एक ही चीज है आप इसे Clock Rate कहें या Clock Speed मतलब एक ही है। Clock Rate या Clock Speed आपके CPU/Processor के Clock Cycle को Count करने का काम करता है और साथ ही ये भी दर्शाता है कि आपके CPU-Processor की Speed कितनी है या आपका CPU/Processor Per Second कितनी Calculation / गणनाएं कर सकता है। जैसे-मान लेते हैं कि एक Processor है जिसमें 3 अरब Transistors लगे हुए है तो वो CPU हर सेकेण्ड में 3 अरब साइकिल कम्प्लीट करेगा यानि प्रति सेकेण्ड 3 अरब Calculation। तो यहां पर 3 अरब Calculation उसकी Speed है। तो आपने जाना कि Clock Rate या Clock Speed क्या है।

What is Hertz, Kilohertz, Mega Hertz and Gigahertz

Mega Hertz, Giga Hertz क्या होता है?
आपने Mega Hertz, Giga Hertz का नाम बहुत बार सुना होगा तो ये क्या होता है?
चलिए जानते हैं-

Mega Hertz, Giga Hertz के बारे में जानने से पहले हमें Hertz के बारे में जान लेना चाहिए
Hertz, Clock Rate / Clock Speed को नापने की सबसे छोटी इकाई है, इसलिए Clock Rate or Clock Speed को Hertz में Measure किया जाता है। Hertz को संक्षिप्त रूप में Hz लिखा जाता है।

अब आपके मन में प्रश्न होगा कि एक Hertz कितना होता है?
आपके CPU में लगा एक Transistor एक Hertz का होता है इस प्रकार आपके Processor में जितना भी Transistor लगा होगा वो Processor उतने Hertz का होगा।
अब इसे भी देखिए-

1000 Hertz (Hz) - 1 Kilo Hertz (Khz)

1000 Kilo Hertz - 1 Mega Hertz (Mhz)

1000 Mega Hertz - 1 Giga Hertz (Ghz)

जब शुरूआती कम्प्यूटर बनाये गये थे तब उस वक्त के कम्प्यूटर Hertz या Kilo Hertz पर वर्क करते थे, बाद में Mega Hertz पर काम करने लगे। अभी के वर्तमान कम्प्यूटर Giga Hertz पर वर्क करते हैं। 
भविष्य में जरूरत पड़ने पर Tera Hertz वाले Processor भी आयेंगे इस प्रकार हम धीरे-धीरे आगे बढ़ते रहेंगे। हालांकि आने वाले कई वर्षाें तक हमें Tera Hertz की आवश्यकता पड़ने वाली नहीं है क्योंकि वर्तमान के कम्प्यूटर Giga Hertz पर बखूबी काम कर रहे है। और अभी तक हम 5 Giga Hertz तक ही पहुंच पाये हैं। जिसकी फ्रिक्वेंसी मौजुदा समय को देखते हुए बहुत है। 

लोग Processor को Hertz में न कहकर Giga Hertz में बताते हैं क्यों?

एक उदाहरण से समझते हैं-मान लेते हैं कि एक 2.8 Giga Hertz का Processor है तो उसमें 2 अरब 80 करोड़ Hertz होंगे। तो कोई उसे ऐसे नहीं बता सकता है कि मेरा Processor 2 अरब 80 करोड़ Hertz का है। ये बोलने में कठिन व मुश्किल और अटपटा सा भी है इसलिए लोग 2.8 Giga Hertz आसानी से कह देते हैं जो कि सुनने भी अच्छा लगता है और लोग आसानी से समझ भी जाते है। इसलिए Giga Hertz इसी प्रकार जब Tera Hertz आयेगा तो लोग उसे Tera Hertz कहेंगे। और इसी प्रकार चलता रहेगा।
तो आपने जाना कि Hertz , Kilo Hertz, Mega Hertz, Giga Hertz क्या होता है।

निष्कर्ष-

मौजुदा समय में हर व्यक्ति कोई भी काम जल्दी से जल्दी करना या करवाना चाहता है, तो ऐसे में केवल उसके चाहने भर से कुछ नहीं हो सकता है, मशीन भी तो फास्ट वर्क करने वाली होनी चाहिए। अब आप बैठे हैं एक पैसेंजर ट्रेन में और सोच रहे हैं कि वो आपको बुलेट ट्रेन के जैसे फटाफट आपके मंजिल तक पहुंचा दे। ऐसा हो सकता है क्या? बिल्कुल भी नहीं।

उसी प्रकार आपके पास एक ओल्ड जमाने का कम्प्यूटर है और आप उस पर आज के कम्प्यूटर के जैसे वर्क करवाना चाहेंगे तो वो करेगा क्या? कभी नहीं। इसलिए आज के हिसाब से काम करने के लिए आज के जमाने वाली चीजें आपको लेनी पड़ेगी। और इसी चीज को ध्यान में रख कर Processor बनाने वाली कम्पनीज अपने Processor को High Frequency की बनाती जा रही हैं ताकि वो आपके Instruction को तेजी से Process कर सके और साथ ही कम्पनीज अपने Processors में Transistors की संख्या दिनो-दिन बढ़ाती जा रही हैं इस वजह से Hertz भी बढ़ते जा रहे हैं इसका फायदा ये हो रहा है कि Processors काफी Powerful होते जा रहे हैं अब यूजर चाहे कैसा और कितना भी हैवी टास्क असाईन करें वो प्रोसेसर बिना किसी प्राब्लम के Task Done Or Complete करता चला जाय। 
अभी तक 5 Giga Hertz का हाई फ्रिक्वेंसी वाला Processor जो कि है हमें देखने को मिल चुका है। AMD द्वारा बनाया जा चुका है।
तो Innovation का दौर इसी प्रकार चलता रहेगा। और हमें नई-नई चीजें देखने को मिलती रहेंगी।

उम्मीद है ये पोस्ट आपको पसंद आई होगी और कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां भी इस पोस्ट से मिली होंगी। यदि पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि और लोगों तक भी ये जानकारी आपके माध्यम से पहुंच पायें और यदि कोई सवाल व सुझाव हो तो नीचे कमेण्ट बाक्स में कमेण्ट करें।
इसी के साथ मैं शमीम अहमद आप से विदा लेता हूँ। मिलते है अगले पोस्ट में तब तक के लिए नमस्कार।

Post a Comment

Please do not enter any type of spam or link in the comment box

Previous Post Next Post