thunderbolt-interface-in-hindi



What is Thunderbolt? थण्डरबोल्ट क्या होता है?

दोस्तों, Display Interface Series में अभी तक हमनें VGA, DVI, HDMI और DisplayPort के बारे में जाना कि ये क्या हैं? कैसे काम करते हैं? और इन सबका यूज क्या है? इत्यादि।

thunderbolt-interface-in-hindi

इन सभी के बारे में अलग-अलग Posts हमारे Website पर हैं। यदि आपने उन्हें नहीं देखा है तो आप उन सभी को जरूर देखें ताकि सभी के बारे में आपको पूरी जानकारी हो।

What is DisplayPort in Hindi ?


HDMI Cable in Hindi


What is DVI in Hindi?


What is VGA Cable in Hindi?


Display Interface के इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए आज हम एक और नए Interface के बारे में जानेंगे जिसका नाम है - Thunderbolt।

हो सकता है कि आपने इसके बारे में कहीं न कहीं, किसी न किसी से कुछ न कुछ जरूर सुना होगा। और थोड़ा बहुत इसके बारे में जानते भी होंगे। यदि आप इसके बारे में जानते हैं तो बहुत अच्छी बात है।
और यदि नहीं जानते हैं तो चलिए आज के इस पोस्ट में हम इस Interface के बारे में डिटेल में जानते हैं कि Thunderbolt क्या होता है? कैसे काम करता है? और इसका यूज क्या है?

What is Thunderbolt ? थण्डरबोल्ड क्या है? 

Thunderbolt भी बाकी Interface की तरह ही एक Hardware Interface है जो Data को Transmit करने का काम करता है। ये Interface पुराने सभी Interfaces से कहीं ज्यादा Advance है। जिसके बारे में हम आगे जानेंगे।

Who Invented Thunderbolt ?

thunderbolt-interface-in-hindi


Thunderbolt को 2009 में Intel और Apple ने मिलकर बनाया था और इसे सबसे पहले Apple ने अपने MacBook Pro में As a Prototype यूज किया था। (Prototype का मतलब किसी नई तकनीक या कोई नया चीज को अपने किसी Products में Use कर उसे As a Sample प्रस्तुत करने को कहते है।)

2009 में Thunderbolt का नाम Light Peak हुआ करता था। और ये एक Fiber Optical Based Based तकनीक थी। यानि ये Cable पुरी तरह से Fiber Optical Wire पर Work करता था। 
इस Cable के माध्यम से केवल Data Transmit हो पाता था। किसी भी प्रकार का Power Delivery नहीं हो पाती थी। 

How Light Peak Name Changed to Thunderbolt?

जैसा कि आपको बताया गया कि जब 2009 में इस Particular Product को Intel और Apple के Collaboration से बनाया गया था तब इसका यूज Data Transfer के तौर पर किया जाता था। और इसका नाम Light Peak था। 

लेकिन Intel चाहता था कि हम इस Cable को कुछ इस प्रकार से Design और Develop करें ताकि हम किसी भी Particular Device को Power भी Deliver कर पायें। 

और यदि Power Delivery करनी है तो ये Without Copper मुमकिन न था। इसलिए Intel और Apple ने फिर से उस पर Work करके Copper का यूज करके 2011 में इसे एक Copper Based Cable बनाया जो कि 10 Watt तक की Power Provide करने में सक्षम था।
 
इस केबल के बन जाने के बाद Apple ने इसे Thunderbolt के नाम से Registered करा दिया। तभी से ये Thunderbolt as a Trademark जाना जाने लगा। हालांकि बाद में Apple ने इस Trademark को पूर्ण रूप से Intel को Transfer कर दिया। और तब से Thunderbolt Intel की Property बन गई। 

Thunderbolt Cable के आ जाने के बाद अब Thunderbolt में 2 प्रकार के Cable हो गये जिसे उनके द्वारा अलग-अलग नाम भी दिया गया।

1. Passive Cable 

2. Active Cable 


Passive Cable 


thunderbolt-interface-in-hindi

Passive Cable Optical Fiber Cable था उसे Passive Thunderbolt Cable का नाम दिया गया था। 
Passive Cable की Length अधिकतम 60 Mtr तक की हो सकती है। यानि ये Cable 60 Mtr. तक Data को Transmit कर सकता है।

लेकिन Optical Fiber Cable होने और Length ज्यादा होने के कारण Data Transmission में Degradation भी देखने को मिलता है।

Active Cable 

thunderbolt-interface-in-hindi

Active Cable Copper Based Cable होता है। जिसे Copper का यूज कर Data Transmission के साथ-साथ Power Deliver करने के लिए भी बनाया गया था। और इसे Active Cable का नाम दिया गया।

Active Cable की Length कम होती है। और वो Electric Power का यूज करके Data को Transfer के साथ कर पाता था। क्योंकि Active Cable Power के कारण Boost होता रहता है। 

How Thunderbolt works? Thunderbolt काम कैसे करता है?

Thunderbolt Mini DisplayPort और PCI Express Lane की मदद से Data Transmit करने का काम करता है। और Thunderbolt DisplayPort Protocol पर ही Work करता है।

Thunderbolt Version

जिस प्रकार सभी Interfaces के कई Versions थे उसी प्रकार Thunderbolt के भी कई Versions है।
2009 में जो Interface बनाया गया था वो Fiber Optical Based Cable था। और वो as a Trial था। इसलिए उसे किसी भी Version के तौर पर Consider नहीं किया गया। 

Thunderbolt Version 1 or Thunderbolt 1

2011 में Intel और Apple के Collaboration से Thunderbolt का पहला Version Thunderbolt 1 लांच किया गया। जो कि बहुत ज्यादा फास्ट था। इसकी Maximum Speed 10 Gb/s की थी। 10 Gb/s को Exactly Gigabyte में Convert किया जाय तो ये लगभग 1 GB/s के आप-पास का होता है।

ये Interface 2 Channels का Use करके Data को एक ही समय में Send और Receive करने का काम करता था

और जैसा कि पहले ही बताया गया कि Thunderbolt Mini DisplayPort और PCI Express Lanes की मदद से Data Transmit करता था। 

इस Interface को सबसे पहले Apple ने अपने Mac Book Pro में यूज किया था। बाद में इसका यूज Desktop में भी किया जाने लगा।

thunderbolt-interface-in-hindi

Thunderbolt Version 2 or Thunderbolt 2

2013 में Intel ने Thunderbolt के Next Generation को Introduce किया जो कि Thunderbolt 2 था। इस Version में काफी बदलाव किया गया था। 

इस Version में Data Transmission Speed को Double कर दिया गया था। Thunderbolt का ये Version 20 Gb/s तक के Data को Transmit करने में Capable था। 20 Gb/s को Gigabyte में Convert किया जाय तो ये Almost 2 GB/s के आप-पास होता है।

हालांकि Thunderbolt 2 Thunderbolt 1 के साथ Backward Compatible था। यानि ये Thunderbolt 1 के साथ वर्क करने में सक्षम था।

Note

यदि आपने हमारा पिछला Post DisplayPort देखा होगा तो आपको Mini DisplayPort के बारे में जरूर पता होगा। 
Mini DisplayPort का Connector और Standard DisplayPort का Connector काफी Different था। 

लेकिन Thunderbolt Connector और Mini DisplayPort के Connector को आप ध्यान से देखेंगे तो यहां आपको पर काफी Similarity देखने को मिलेगी। देखने में आपको दोनों एक जैसे ही लगेंगे। 

तो यहां पर आपको बता दूँ कि दोनों Connector Same लगते नहीं हैं Exactly Same हैं।


thunderbolt-interface-in-hindi


DisplayPort और Thunderbolt 1 और Thunderbolt 2 का Connector Same Mini DisplayPort वाला ही है।

हालांकि बाकी अन्दर की बनावट अलग है। क्योंकि Thunderbolt में Copper का यूज किया गया है। और Mini DisplayPort में नहीं।

इसलिए Mini DisplayPort और Thunderbolt को देखकर आप नहीं बता पायेंगे कि कौन-सा Cable Thunderbolt है और कौन-सा Cable Mini DisplayPort। 

इसीलिए Companies ने दोनों में फर्क दिखाने के लिए एक Trick अपनाया जो कि Basically एक Sign है जिसे देखकर आप आसानी से ये फर्क कर पायेंगे कि कौन-सा Cable Thunderbolt है और कौन सा Mini DisplayPort।

Mini DisplayPort के लिए एक Square Type के Sign का यूज किया जाता है। और Thunderbolt के लिए एक Zik-Zak Arrow का यूज किया जाता है। ताकि Consumer आसानी के साथ दोनों में फर्क कर पाये। 


Thunderbolt Version 3 or Thunderbolt 3

thunderbolt-interface-in-hindi

Thunderbolt के Third Generation यानि Thunderbolt 3 को Intel द्वारा December 2015 में Release किया था। 

इस Version में थोड़े बहुत नहीं बल्कि जबरदस्त बदलाव किया गया। इस बार Intel ने इसके Connector को ही Change कर दिया और इसमें USB Type-C का यूज किया जो कि एक Reversible Connector है।

Thunderbolt 3 में Bandwidth को Thunderbolt 2 के मुकाबले Double और Thunderbolt 1 के मुकाबले 4 Times बढ़ाया गया था। 

Thunderbolt के इस Version में आपको 40 Gb/s की Speed देखने को मिलता है जिसे Byte में Convert किया जाय तो ये Around 4 GB/s होगा।

Thunderbolt 3 PCI Express Gen 3 के 4 Lanes और Displayport की 8 Lanes का यूज कर High Speed से Data को Transfer करता है।

इसमें Power Delivery पर भी Work किया गया जिसके कारण ये Version 15 Watt तक के Power Deliver कर पाने में सक्षम है।

इसमें Version में आप Dual 4K 60 hz Monitors को एक साथ Connect कर सकते है। 

Thunderbolt में भी आप Daisy Chaining कर सकते हैं यानि आप एक साथ 6 Devices को एक ही Wire से Connect कर सकते हैं। इसके लिए आपको किसी Hub की जरूरत नहीं होती है।


Thunderbolt 4

Thunderbolt 4 की Announcement 2020 की शुरूआत में ही की जा चुकी है। लेकिन अभी इसको Release नहीं किया गया है। लेकिन माना ये जा रहा है कि इसे 2021 में रिलीज कर दिया जाएगा।

Use of Thunderbolt 

जनरली Thunderbolt का यूज Apple के Products में ज्यादा देखने को मिलता है। लेकिन मौजुदा समय में इसका यूज Other Companies भी करने लगी हैं। 

Thunderbolt का यूज ज्यादातर High-end Devices जैसे-Apple, High-end Motherboard, High-end Laptops में किया जाता है जो कि काफी मंहगे होते हैं।

Thunderbolt Hardware Interface used Device के Price ज्यादा क्यों होते है?


Thunderbolt Hardware Interface used Device के Price ज्यादा इसलिए हो जाते हैं क्योंकि Thunderbolt Royalty Free नहीं हैं। कोई भी कम्पनी इस Particular Interface का यूज यदि करती है या करना चाहती है तो उसे Intel को Royalty Fee देनी पड़ती है क्योंकि ये Intel की Property है।
और इस प्रकार Royalty भरने के कारण वो Particular Product मंहगा हो जाता है। और Obeviouslo उसका भार Consumer पर ही पड़ता है।

Thunderbolt Related Question Answer

Are Thunderbolt 1 and 2 same cable?

Thunderbolt Cable 1 और 2 में वैसे तो कोई फर्क नहीं है। दोनों में ही Same Cable और Same Connector का यूज किया गया है। हां, बात अगर Performance की करें तो Definitely इन दोनों में फर्क है। क्योंकि अपने-अपने Generation के हिसाब से इनमें फर्क है।


Is Thunderbolt and USB the Same?

Thunderbolt Cable में भले ही USB-C Connector का यूज किया है लेकिन दोनों Cable में बहुत फर्क है।

Thunderbolt में आप USB-C Cable का यूज कर सकते है। क्योंकि ये Thunderbolt के साथ Supported है और वैसे ही आप Thunderbolt Cable का यूज USB-C में भी कर सकते हैं।

लेकिन बात Performance की करी जाय तो दोनों में बहुत फर्क है। जैसा कि आपको पता है कि USB-C की अधिकतम Speed 10 Gb/s तक की है जबकि Thunderbolt की Speed USB से 4 गुना ज्यादा है।

और बात यदि वर्क करने की कि की जाए तो USB-C Thunderbolt में वर्क तो करेगा लेकिन 4 Times Slower  और हो सकता है कि कई जगहों पर ये वर्क ही न करें। क्योंकि दोनों का Invention अलग-अलग कामों के लिए हुआ है।

What is Thunderbolt used for?

Thunderbolt का यूज Generally Laptop में Power Connecter के तौर पर किया जाता है लेकिन आप इससे T.V., Monitors, External Hard Drive, Other Connector like - VGA, DVI, HDMI, DisplayPort इत्यादि को Connect करने के लिए कर सकते हैं। हालांकि इसमें कुछ Devices को Connect करने के लिए आपको एक Compatible Adapter की जरूरत पड़ेगी।

Can I plug a USB into a Thunderbolt 3 port?

बिल्कुल, आप USB को Thunderbolt में Connect कर सकते हैं। बसर्ते, USB Type-C Cable होना चाहिए। 

Is Thunderbolt better than USB?

निश्चित रूप से Thunderbolt USB से कहीं ज्यादा Better होता है। क्योंकि जो काम Thunderbolt कर सकता है वो USB नहीं कर सकता है। और यदि करेगा भी तो बहुत ही Slow।


How do I know if my USB port is Thunderbolt?

thunderbolt-interface-in-hindi

यदि आपको ये जानना है कि मेरा Cable Thunderbolt है या USB। तो इसके लिए आपको उस Port पर दिये गये Sign को देखना होगा। क्योंकि Thunderbolt Cable पर एक Zik-Zak Arrow का Sign दिया गया होता है। जो Thunderbolt को USB से अलग करता है।
नीचे दिये गये इमेज को देखिए-

Conclusion

Thunderbolt Technology अब तक की Best Technology है जो कि Future में काफी प्रभावी तरीके से वर्क करने वाला है।

Thunderbolt को आये हुए वैसे तो सालों का समय हो चुका है लेकिन ये Royalty Free न होने के कारण अधिकतर Apple के Products पर देखने को मिलता था। 

लेकिन अब Other Companies भी इसका यूज अपने Product में करना शुरू कर चुकी है।

लेकिन वो भी आपको महंगे High-end वाले Computers और Laptop में देखने को मिलता है।

लेकिन आने वाले समय में हो सकता है इसका यूज Budget Segment वाले Products में भी होना शुरू हो जाय। लेकिन अभी ऐसा कुछ भी होता हुआ दिखाई नहीं दे रहा है।

इस Technology का Future इसलिए भी Bright है क्योंकि आज के समय मे हम सबको Compact चीजें ज्यादा पसंद है। हम ज्दाया Bulky चीज Carry करना पसंद नहीं करते हैं। इसलिए Companies भी इसे को ध्यान में रखकर Products तैयार करती है।

एक Cable से आप कई काम कर सकते हैं। एक की Cable के माध्यम से आप एक से ज्यादा Devices को जोड़ सकते हैं। उसको चार्ज कर सकते हैं। 

यानि इस Cable के होने से आपको अन्य प्रकार के अलग-अलग Cables की आवश्यकता नहीं पड़ने वाली है। बस आपके पास Thunderbolt है तो आप हर प्रकार के Device को उससे आसानी के Connect कर पायेंगे।

Thunderbolt अभी Consumer Level पर उतना नहीं दिखता है जिसका कारण आपको पहले ही बताया जा चुका है।

लेकिन आशा है कि आने वाले वर्षो में ये बाकी Interface की ही तरह Common हो जायेगा। और हम सब भी इसका Advantage उठा पायेंगे।

उम्मीद करता हूँ कि Thunderbolt से Related आपके सभी Doubts Clear हो गये होंगे।

लेकिन फिर यदि कुछ रह गया हो तो नीचे कमेण्ट करके हमें जरूर बतायें। और हमेशा की तरह इस पोस्ट को शेयर करें।
मिलता हूँ एक नये पोस्ट के साथ तब तक के लिए - Good Bye



Post a Comment

Please do not enter any type of spam or link in the comment box

Previous Post Next Post